पा लेता हु ख़ुदको,नया सा हर दिन में ये सोचें की मंज़िलो को भी,मेरा इंतज़ार होगा ।

By

पा लेता हु ख़ुदको,
नया सा हर दिन में..
ये सोचें की मंज़िलो को भी,
मेरा इंतज़ार होगा ।

Leave a Comment